हमारे बारे में

एकमेवेदृशं कर्म कर्तुमापतितं क्वचित् | जन्मायुशतेनापि यत्फलं भुज्यते न वा

ज्योतिष मानव को बेहतर जीवन और भविष्य के लिए मदद करता है भविष्य और उसके जीवन को जानने के लिए, हमें अपने कुंडली की जांच करना होगा। जन्मकुंडली हमारे भविष्य के बारे में बताता है और बेहतर भविष्य के लिए हमें मार्गदर्शन करता है। हमारे जन्म कुंडली को देखने के लिए हमें जन्म की तारीख, जन्म के समय और जन्म के विवरण की आवश्यकता होती है।

जातक ने पूर्व जन्म में जैसा भी शुभाशुभ कर्म किया है उसका फल कब और कैसे प्राप्त होगा ? ज्योतिष का फलित स्कन्ध यही विवरण प्रस्तुत करता है | मानव के कर्मफल के परिपाक समय का ज्ञान प्राप्त करने के लिए मनीषियों ने ज्योतिष में दशा पद्धति का आविष्कार किया, जिससे कि यह जाना जा सके कि अमुक ग्रह का शुभाशुभ फल कब मिलेगा इसका निर्धारण दशा पद्धति करती है, कब और कैसा फल मिलेगा यह ग्रह कि स्थिति पर निर्भर करता है |